Vedic Astrology

जॉव में प्रमोशन प्राप्ति के अचूक उपाय

Job Promotion

आज के समय में सबसे बड़ी समस्या है अच्छी नौकरी, यदि किसी के पास अच्छी नौकरी है तो उसे समय पर अच्छा प्रमोशन या वेतन वृद्धि नहीं मिलती। नौकरी में लगातार मेहनत करने के बाद प्रमोशन और सैलरी इंक्रीमेंट से नौकरी करने वाला कर्मचारी खुश होता है, लेकिन कई बार ऐसी परिस्थितियां उत्पन्न होती है कि जॉब कर रहे एम्प्लोई को उनके परिश्रम का फल नहीं मिलता है। 

कभी-कभी नौकरी के प्रमोशन में किसी न किसी प्रकार की रुकावट आती है। ऐसी समस्याओं को दूर करने के लिए आपको मेहनत तो करनी ही है पर साथ-साथ अगर यह उपाय भी करेंगे तो आपको आगे बढ़ने से कोई नहीं रोक पाएगा।

नौकरी से जुड़े लोगों को हर साल पदोन्नति और वेतन वृद्धि का इंतज़ार रहता है। सालभर बेहतर प्रदर्शन और मेहनत करने पर प्रमोशन और सैलरी इंक्रीमेंट मिलने से नौकरी करने वाला हर व्यक्ति खुश होता है, लेकिन कई बार ऐसा होता है कि जॉब कर रहे जातकों को उनकी मेहनत का फल नहीं मिलता है।

उनके प्रमोशन में किसी न किसी प्रकार की रुकावट या बाधा देखने को मिलती है। ऐसे लोगों के लिए वैदिक ज्योतिष में नौकरी में तरक्की के उपाय बताए गए हैं। इन उपायों के माध्यम से नौकरी कर रहे जातक आसानी से अपनी मेहनत का फल प्रमोशन और इंक्रीमेंट के रूप में प्राप्त कर सकते हैं। आइए जानते हैं नौकरी में तरक्की पाने के अचूक उपाय।

ज्योतिषीय दृष्टिकोण-

वैदिक ज्योतिष में दशम भाव कर्म को कर्म स्थान कहा जाता है। इस भाव से जातक की आजीविका अर्थात नौकरी और बिजनेस का विचार किया जाता है। इस भाव में ग्रहों की स्थिति यदि शुभ है, तो उसी के आधार पर व्यवसाय का आंकलन किया जाता है, यदि दशम भाव रिक्त है तो दशमेश नवमांश कुण्डली में जिस राशि में होता है उस राशि का जो स्वामी ग्रह होता है उस ग्रह के स्वभाव और कर्म के अनुसार व्यक्ति का रोजगार होता है, दशम भाव का स्वामी जिस राशि में स्थित है उस राशि के स्वामी के आधार पर भी रोजगार का विचार किया जाता है|

सभी ग्रह दशम भाव में शुभ एवं लाभकारी फल देने वाले होते हैं। शनिदेव जिन्हें कर्म अधिकारी कहा जाता है। वे हर मनुष्य को उसके कर्म के आधार पर शुभ फल और दंड देते हैं। काल पुरुष राशि चक्र में शनि स्वयं दशम भाव के स्वामी हैं। इस वजह से शनि देव कर्म और कार्य क्षेत्र में मनुष्य को अनुशासन, समर्पण और प्रतिबद्धता के लिए प्रेरित करते हैं और गुरु की कृपा से नौकरी और व्यवसाय में कई अच्छे अवसर प्राप्त होते हैं, साथ ही करियर के क्षेत्र में बढ़ोत्तरी होती है।

ज्योतिषीय अचूक उपाय-

  • कुण्डली में दशम भाव तथा दशमेश को मज़बूत करें। घर से निकलते समय पहले दाहिना पैर निकालें। मनचाहा स्थानांतरण के लिए अपने तकिये के नीचे अनंतमूल की जड़ को रखकर सोएं।
  • यदि जातक पाप ग्रहों के दुष्प्रभाव से पीड़ित रहता है तो भी नौकरी में परेशानी आती है। इसके निराकरण के लिए घर पर नवग्रह हवन या मंदिर में रूद्राभिषेक करवाना चाहिए। इसके प्रभाव से नकारात्मक ऊर्जा दूर होती है और सकारात्मक ऊर्जा का संचार होता है।
  • हर रविवार को गाय को किसी बर्तन में गुड़ व गेहूं रखकर स्नेहपूर्वक खिलाएं। इसके साथ ही मंदिर में पीली वस्तुएं दान करें।
  • हनुमान जी का आकाश में उड़ता हुआ एक चित्र लगाएं और प्रतिदिन उसके समक्ष बैठकर हनुमान चालीसा का पाठ करें। प्रति मंगलवार या शनिवार को बट वृक्ष के पत्ते पर आटे का दीया जलाकर उसे हनुमान जी के मंदिर में रख आएं। ऐसा कम से कम 11 मंगलवार या शनिवार करें।
  • कुंडली में दशम भाव के स्वामी से संबंधित मंत्रों का जप करना चाहिए।
  • सूर्योदय के समय सूर्य देव को जल चढ़ाएं और गायत्री मंत्र या सूर्य मंत्र का जप करें। ऐसा करने से व्यावसायिक जीवन में उन्नति होती है। और वरिष्ठ सहकर्मियों और अधिकारियों के साथ तालमेल बनाकर चलने में मदद मिलती है।
  • शुक्ल पक्ष के सोमवार को तीन गोमती चक्र चांदी के तार से बांध कर हमेशा अपने पास रखें।
  • सात तरह के अनाज समान मात्रा में लेकर सुबह आप अपने घर की छत पर या किसी पार्क में खुले स्थान पर फैला दें। जिससे पक्षी अनाज के ये दाने चुग लेंगे। उनके लिए जल की व्यवस्था भी करें। यह उपाय कम से कम 43 दिन तक करें, विशेष लाभ मिलेगा|
  • अगर लाख मेहनत करने पर भी मनचाहा वेतन या प्रमोशन नहीं मिल रहा है तो आज से ही रोज रात में एक हरे कपड़े में एक इलायची को बांधकर तकिए के नीचे रखकर सो जाएं और प्रात: उसे घर के किसी बाहरी व्यक्ति को दे दीजिए।
  • व्यवसाय से जुड़े लोगों के लिए व्यापार वृद्धि यंत्र एक वरदान है। इस यंत्र को अपने कार्य स्थल या ऑफिस में स्थापित करें। इस यंत्र के सकारात्मक प्रभाव से धन लाभ, व्यापार वृद्धि व आर्थिक हानि का संकट दूर होता है।
  • अगर लाख मेहनत करने पर भी मनचाहा वेतन या प्रमोशन नहीं मिल रहा है तो आज से ही रोज रात में एक हरे कपड़े में एक इलायची को बांधकर तकिए के नीचे रखकर सो जाएं और प्रात: उसे घर के किसी बाहरी व्यक्ति को दे दीजिए।
  • 12 मुखी रुद्राक्ष धारण करें, और नित्य सूर्योदय से पूर्व उठकर सूर्यदेव को अर्घ्य प्रदान करके आदित्यहृदयस्तोत्र का पाठ करें|
  • किसी गरीब को काले कंबल का दान करें और पिसी हुई हल्दी को बहते पानी में डालने से जल्द लाभ मिलेगा।
  • रविवार और मंगलवार के दिन पदोन्नति की कामना से लाल कपड़े में जटा वाला नारियल बांधकर पूर्व दिशा की ओर बहते हुए जल में प्रवाहित करें।
  • घर से निकलते समय एक नींबू को अपने सिर से 7 बार घुमाएं और चार लौंग इसमे दबा दें। अब इस नींबू को अपने पास रखें और शाम को बहते पानी में या किसी सुनसान जगह छोड़ आएं।
  • शनिवार को पीपल के वृक्ष के नीचे सरसों के तेल का दीपक जलाकर 7 परिक्रमा करें।
  • पीपल के 11 साबुत पत्ते लेकर उन पर लाल सिन्दूर से राम-राम लिखकर मौली से पत्तों की माला बनाकर हनुमान जी से अपनी नौकरी की प्रार्थना करते हुए उन्हें ये माला पहनाएं। ऐसा लगातार 7 शनिवार तक करें।
  • सोमवार को कनिष्ठिका उंगुली में चांदी की अंगूठी में मोती धारण करें।
  • यदि आपकी नौकरी या प्रमोशन में किसी भी तरह की बाधा आ रही है तो आप रोज़ाना पक्षियों को बाजरा और मक्का मिश्रित अनाज खिलाएं।
  • इंटरव्यू के समय एक नींबू में 4 लौंग गाढ़कर ॐ हं हनुमंते नमः मंत्र का 21 बार जाप करके नींबू को अपने पास रखें, और वापिस आकर, किसी पीपल के पेड़ के नीचे रख दें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *